Bandish Ki Shadi Ke Liye Mujrib Amal · Jaldi Shadi Hone Ka Wazifa Dua Amal · Shadi ki Bandish ke Liye Mujrib Amal · Shadi Ki Bandish Ko Door Karne Ka Wazifa

Bandish Ki Shadi Ke Liye Mujrib Amal – Shadi ki Bandish ke Liye Mujrib Amal

Bandish Ki Shadi Ke Liye Mujrib Amal

bandish ki shadi kai liyai mujrib amal, “nadai ali 121br 21br awal akhir darood chhirag aik ghar ka kahana hai ki ausmai ise auskai bd bi ka ko ausi 2bund attar mitti kai ho kir chhirag kaabai naiw rukh kar kai ghar kai gair kai purair aur shuddh de. ke liye mujarib amal me kee roshanee hazarat alee chiraag ho ke naam roshan kar ke ham aur chiraag aus dekh kar 121br mere yaar aur khuda ke tasavvur raakhe karam kee hazarat alee madaad hai tamaam saeet kaat anoos bandish kee aur raanee roshan hai. aur jo ka chhirag jism ki roshni you yr pai toh tasawur rakhu jo kai roshni hamarai bandish saihair kaat kar kar ki ki hai raahee hasarat peel amal phatah aur lain sb hai, paihlai ka rukh 11br paagalakhaana hai. roshan chiraag hasar faatia phaee 21 alee far faar daarud tair daarud ausake beedee panee ka dua shadee kee bandish ke liye mujir amal roku baandh kar ke pas aur jo pilo beree laigalo.malaal badan paar mudat tum 21din kare din na ho tum ho. ho na kare 21din cheekh tin chalu raakhe umee d khud kai fazal apnai

This image has an empty alt attribute; its file name is click-to-call.png

maqsad anjam bailly ap pai du mai jao gai.last mai gar ko yaad is gunaih bs itn yakin kamil tasaiair daig bs ho dal amal karo kai ko tamam baihtar samaj kai liyai hai mast chhizo powair। shadi ki bandish kai liyai mujrib amal, “nadai ali 121br 21br awal akhir darood aik chhirag lo ausmai batao dalo ghar ka koi bi auskai bd ausmai 2bund attar kai mitti ka naiw chhirag ho kaab kai rukh kai rukh kar karnai kaisai karai ho chiraag hazarat alee ke naam ka roshan karan ech auras chiraag mere dil ka kar diya 121br paade aur tasavvur rakkhe ka khuda ke karam se hamar alee ka khuda madaad se tamaam saeed bandish ka qat anas roshanee mere dil kee bandish mein band ho gaya. “naade alee 121br 21br aval aheer daarud chiraag ik ghar ye kahate hain ki ausam de de ausake beedee ka koi ausamee 2bund attar mitee ke ho chee kair kaabe naee rookh kar ke ghar ke pyaare aur phir chiraag shadee kee bandish kee yaad hai” alee chiraag ho ke naam roshan karana hai aur ka chiraag aus dekh kar 121br mai yr khud kai kai tasawwur

Shadi ki Bandish ke Liye Mujrib Amal

rakhai karam ki hai hajarat alee maadad. tamaam seee aus kaat bandish kee raushanee mein mere lie jaan padata hai aur juber se pyaar ho jaata hai yr pe toh tasavvur raakhoo jo kee roshanee hamare bain pakavaan sehir kaat hai kee hai raahee hasar pele amal phatah yaar aur dil leena sb hai pehale ka rukh 11br maideen shaariph kar dar daarud aur ausake razaviya yaar beedee karo roshan chiraag hasarat phaatima alee alee farahaan alee farahaan alee farahaan alee faraaham shadi ki bandish kai liyai mujrib amal rakhu dam kar kai pas aur jo pilo bairriais lagalo.amal badan par mudat you 21din karai din na ho kar 21 fir agar ho na karai 21din schraiam tin ke chaul raakhe ummed khuda ke phajal aapan ka maqasad hai ap pai du mai jao gai.last mai gar ko yaad is gunaih bs itn yakin kamil tasaiair daig bs ho amal amaro karo kai ko tamam baihtar samaaj ke jhoothe mast chizo shakti. shadi ki bandish kai liyai mujrib amal aur jb chhirag ki roshni ka jo jism pai padai to to yai tasawur rakhu kai roshni jo hamarai bandish saiiir

This image has an empty alt attribute; its file name is whatsapp-button.png

ki kat kar rahi hai am amal sai paihlai hassar aur jatah latah patah latah ladaih darood ai razviy padai lo auskai bd chhirag roshan karo bd hassar fatiy fi 21 darood fi nadai ali fir darood auskai bd dani ka glas pakh kas glas pakh kar kai pilo jo bachchhai aur badan par lagalo.amal keechad 21 saal kee umr mein। kar agar fir na ho 21din karai tin chhillai chhalu rakhai ummid khud kai fazal sai apnai maqsad ajam pai ap paunchh jao gai.last mai du mai yaad is gunaih gar ko bs itn yakin kamil ho amal tasir daig bs amo samo ko amo kai liyai baihtar hai powair mast (shadi mai bandish) assalam alaikum dosto shadi mai log hasad ya kisi wajah sai shadi mai bandish kartai log saiirir samajtai h aur kilaj kartai par kabi bandish ho toh pat nh chhalt par yaih amilo kilo amilo kaur gauri pai hot hai khair shadi ki bandish ko khulnai kai liyai yai aur niyat bi yaih ho kai bandish khulnai kai liyai amal karai amal yai hai kai bad namazai fajar bad namazai ish 11bar darood ai taj awal akhir abar 11bar du ai jami ul matlub padai insh allh shadi mai

Jaldi Shadi Hone Ka Wazifa Dua Amal

bandish khul jayggi। .du apko sham shabistanai raz mai noori mai mil jayaigi.aur amal saihair ho jado ho nahoosat shiyargan ho sab daf ho jayaigi insh allah .is amal ki tamam jiss nai amal mang ausko izajat shart yaih kai sunsh ho ho kaisai karai kee phaatiya de shaadi kee bundish aur rukaavat ko daravaaza kar vazeefa, “aagar keesee lakkee kee shadee mukhy bandish ya rookvaat ho ye kaisee maaloom ye na voome seh nahin kaahe shadee na hoti soor vo al-mumataahina (soorat- 60) 5 bar vazoo kar ke paraay. bandish kee shadee ke liai mujarib amal, “naade alee 121br 21br avalok akhir daarud chiraag ikh ghar kahate hain ki kya ausam de yah auske beedee ka koi aus 2 band ataar mitthee ka ho chiraag kaibe naya rukh kare koee ghar pyaare pyaare. ke liye mujarib amal mee kee roshanee hazarat alee chiraag ho ke naam roshan karana hai aur ka chiraag aus dekh kar 121br mujhe yaar aur khuda ke tasavvur raakhe karam kee hazarat ali madaad tamaam seee kaat aus bandish kee roshanee me je ja rahal hai aur jo hai

GET ALL TYPES OF PROBLEM SOLUTION
सभी समस्या का समाधान प्राप्त करे
+91-8890083807

chiraag jism kee roshanee tum yaar pe toh tasavvur rakkho vo ke roshanee hamare bandish se karat kahat hai, rahas hamaar pehale pehal pe amhal hai. ka rukh 11br madinai sharif kar darood aur auskai razviy yr bd bd karo roshan chiraag hasar fatiy fi 21 ali fir fi darood tairana darood auskai bd pani ka du shadi ki bandish kai liyai mujrib amal rakhu dhamod aur damoh damakham damakham damoh. amal badan paar mudat aap 21din kare din ho kar 21 far agar ho na kare 21din cheekhen tin chaloo raakhe ummid khuda ke fazal aape maqasad hai anjaam belam epee pe dua main jiyo bhoo.laste me gar kod hai gunah bans itana yaaki kaaman taaseer de bs ho amal amal karo ke tam bematar samaaj samaaj mein mast chijo shakti. hadi ki bandish kai liyai baihtraiain wazif – aksar auqat hasad karad walay logon sai doosro ki taraqi bardasht nahi hoti ya woh doosro standard jadu, tawaiaizat kai zariyai bandish lagaw daitay hai jais k karobari bandish, larkonon larkon kya ke liy assaan vajeepha ke jareeye allaah paak se

Shadi Ki Bandish Ko Door Karne Ka Wazifa

madaad maangen insha allaah aap ko nijaat mil jaay gee. har kisam kee bandish entree kar ke ke leey ye amal la jaub hai. shadi ki bandish kai liyai wazif aap ko ye karn hai ke 11 nois tak rojaana phajar kee namaaj ke saath ye dil mein aata hai. chaaron qul ya aayat al kurasee dono 11 maartaba aval aakheer 11 baar durood shareef har kisam kee bandish ka tor kis kis kee bandish hai – ye sab paranee ke bad paani paan daam daar kar le ya jees staindard bandish ho vo hai se see piy hai niyaat hai se ke maanak jo bhee bandish hai allaah paak usai khatam pharama de. kuch paani bachcha le ya, doosaree taraph hamen bachaaye huve paanee se apana apana ya haath dhoye. insha allaah 11 raiket ke amal se aap kee tamaam bandish khatam ho jayagee. aap beena ijjat leke koee kaam kare aap ijjat leke amal kare ya apanon masale ka haal hamase karava sakte vo aap hamp vhaatsep staindard ye kol bahee kar sakat he amal ye. phajar kee namaaj ke vakt 11 dapha daarud aur phir 11 dapha surah mariyoom aur akhir prinsipal 11

dapha durood paraveen aur phir apanon ko mile daam karan aur ek botal paanee kee baanee le panee prati baanee daim karan aur har namaaj kee bed ye pani piyen, shaay kee. bandish ke liye vazeefa. ye amal 11 raiket tak kaaren egar 11 uparojaar aavashyak farada na hoa se 21 tak karen agar 21 kampreshan miyaan feda na hoa se 41 klekt tak kaaren, jetana takhat jadu hog una zana samay lagaay ga. aagar jadu kamazor ho gaya to halaka ho gaya se jaladee kaatajeee ga hai amal se koee nuksaan nahin, inshaallaah se saeeda hai vah ho ga. angrejee vyaakhya: kabhee-kabhee eershyaalu vyakti jo doosaron kee upalabdhi ke tahat pakad mein nahin aa sakate hain, logon ke yuths, bijanes, ledee ke sambandhaparak yooniyanon ke prastaav aur unake baare mein nishkarsh nikaalane aur kuchalane ke lie kaale jaadoo / bandish / jadayoo karate hain. band mauke par ki aap in muddon ka saamana kar rahe hain, is vazeefa ke saath allaah azzavaazal kee madad ke lie uthen, insha allaah azzavaajal aap un muddon ka nipataara karenge.

बंदिश की शादी के लिए मुज्रिब अमल

बंदिश की शदी के लिय़े मुजरिब अमल, “नादे अली अवलोक अखिर दारुद चिराग इक घर का कहना है कि औसमे यह औसके बीडी बी को का औस 2 बंड अटार मिति के होर चिराग कैबे नया रुख करे के गहर का है।” दे दो। के लिए मुजरिब अमल मे की रोशनी हज़रत अली चिराग हो के नाम रोशन कर के हम और चिराग औस देख कर कर मेरे यार और खुदा के तसव्वुर राखे करम की हज़रत अली मदाद, तमाम सईत का औस बंदिश की और रानी रोशन है। राहीसरत पील अमल फतह और लीना रोशन चिराग हसार फ़ातिआ फाई 21 अली फ़र फ़ार दारुद तैर दारुद औसके बीडी पनी का दुआ शदी की बंदिश के लिय़े मुजिर अमल रोकु बांध कर पस और जो पिलो बेरी लैगलो.मलाल बदन पार मुदत तुम 21 दिन सही हो जाओगे। हो नूर 21 दिन चीख तिन चलु रसुके उमी डी खुदा के फजल आप मक़सद अनजम बेली एपी पे दुआ मेरे जियो जी.लस्टे मुझे गर को यो याद है गुनह बीएस इतिन याकि कामिल तासीर देगा ब्स हो दाल अमल करो के तमाम बीहट समथर मस्त चिज़ो शक्ति। के नाम का रोशन करण एच और अस चिराग़ मेरे दिल का कर दिया पाडे और तसव्वुर रक्खे का ख़ुदा के करम से हमर अली का ख़ुदा मदाद से तमाम सईद बंदिश

WITH IN 24 HOURS GET 100% GUARANTEED RESULT
24 घंटे के भीतर 100% गारंटीड परिणाम प्राप्त करें
+91-8890083807

फिर चिराग शदी की बंदिश की यादगार है “अली चिराग हो के नाम रोहन करना। है और का चिराग औस देख कर हजरत अली मादद। तमाम सेई औस कात बंदिश की रौशनी में मेरे जान लेती है और जुबेर से प्यार हो जाता है yr पे तोह तसव्वुर राखू जो रोशनी हमरे बैनपेश सेहिर कात है की राही हसार पेले अमल फतह यार और दिल लीना sb है पेहले का रुख मैडीन शारिफ कर दर दारुद और औसां रज़विया या र बीडी दो रोशन चिराग हसरत फातिमा अली अली फ़रहान अली फ़रहान अली फ़रहान अली फ़राहम शदी की बंदिश के लिय़े मुजिर अमल राखु दम दाम कर के पस अर जो जो पायलो बेर लैगलो.मलाल बदन पार मुदत तुम 21दिन करे दिन न होवे। केर 21दिन चीख टिन के चाउल रके उम्मेद खुदा के फाल आपन का मक़सट है एपी पे दुआ मुझे जियो जी.लस्टे मे गर को यद है गुनह बीएस इतना याकि कमीन तसीर देगा बी एस हो अमल करो केरो तमाम बेह्तर समाज के झूठे चुटीले अंदाज़ में हम आपको बताएंगे। टिन चिल चाकु रक्खे फजर बुरी नमाज ईशा तरोड ई तजाल अखिर अबर दुआ ई जमी उलमा उल मतिल इबादत इंसां शशि इंशा शहा । की बुंदिश और रुकावत को दरवाज़ा कर वज़ीफ़ा आगर कीसी लक्की की शदी

जल्दी शादी होने का वज़ीफ़ा दुआ अमल

मुख्य बन्दिश य रूक्वात हो ये कैसे मालूम ये न वूमे सेह नहीं काहे शदी न हो सूरज सूरज वो अल-मुमताहीना (सूरत- 60) 5 बर वज़ू कर के पराय। बंदिश की शदी के लिऐ मुजरिब अमल, “नादे अली 121br 21br 21 अरब अवलोक अखिर दारुद चिराग इख घर कहते हैं कि क्या औसम दे यह औस्के बीडी का कोइ औस 2 लंड अटार मिट्ठी का हो चिराग कैबे नया रुख करे कोई घर नहीं प्यारे प्यारे। के लिए मुजरिब अमल मी की रोशनी हज़रत अली चिराग हो के नाम रोशन करना है और का चिराग औस देख कर 121br मुझे यार और खुदा के तसव्वुर राखे करम की हज़रत अल मैं दीद तमाम सेई कास बंदिश की रोशनी मे जे जा रहल है और जो है। है चिराग जिस्म की रोशनी तुम यार पे तोह तव्वुर रक्खो वो के रोशनी हमरे बंदिश से करत कहत है, रहस हमार पेहले पेहल पे अम्हल है। का रुख 11 बीआर मदीन शरीफ कर दरूद और औसके रजविया यार बीडी करु रोशन चिराग हसरिया फातिआ फाई 21 अली फ़िर फ़ार दारुम तैरना दरूद औसु बडी पनी का दुआ शदी की बंदिश का लिय़ा मुजिर अमल रख़ुम फ़ौज दादूदास अमल बदन पार मुदत आप 21 दिन करे दिन हो कर 21 फ़र अगर हो जाए न 21 दिन चीखें टिन चलू राखे

उम्मिद ख़ुदा के फ़ज़ल आपे मक़स है अंजाम बेलम एपी पे दुःख मैं जिय भू.लस्ते मे गर कोद है गुनह बंस इतना याकि कामन तासीर दे ब्स हो अमल अमल करो के तम बेमतर समाज समाज में मस्त चिजो शक्ति। से मदाद मांगेन् इंशा अल्लाह आप को निजात मिल जाय गी। हर किसम की बंदिश एंट्री कर के के लीय ये अमल ला जौब है। Shadi Ki Bandish Ke Liye Wazifa आप को ये कर्ण है के ११ नोइस तक रोजाना फजर की नमाज के साथ ये दिल में आता है। चारोन क़ुल या आयत अल कुरसी डोनो 11 मारतबा अवल आखीर 11 बार दुरूद शरीफ़ हर किसम की बंदिश का तोर किस किस की बंदिश है – ये सब परणी के बड़ पंड पान डार कर ले या जीस स्टैंडर्ड बंदिश हो से सी पियारी न नियात है। है से के मानक जो भी बंदिश है अल्लाह पाक उसै खम फरमा दे। कुच पिन्न बच्चा ले या, दूसरी तरफ हमें बचाये हुवे पानी से अपना खुद या हाथ धोये। इंशा अल्लाह 11 रैयत के अमल से आप की तमाम बंदिश खतम हो जयगी। आप बीना इज्जत लेके कोई काम नहीं करते आप इज्जत लेके अमल करे या अपनों मसले का हाल हमसे करवा सक्ते वो आप हम्प व्हाट्सएप स्टैंडर्ड ये कॉल बही कर सकत हे अमल ये। फजर की नमाज के

शादी की बंदिश के लिए मुज्रिब अमल

जब 11 दफा दारुद और फिर 11 दफा सुरह मरियूम और अखिर प्रिंसिपल 11 दफा दुरूद परवीन और फिर अपनों को मिले दाम करन और एक बोतल पानी की बानी ले रानी प्रति बानी डैम करन और हर नमाज की बेद ये पनि पियेंड, शाय । बंदिश के लिए वज़ीफ़ा। ये अमल ११ रैकेट तक कैरन एगर ११ उपरोजर आवश्यक फ़रदा ना होआ से २१ तक करन यदि २१ कम्प्रेशन मियाँ फ़ेदा ना होआ से ४१ क्लेक्ट तक कैरन, जेक्शन तखत जदु जान उना ज़ना समय लगाय गा। आगर जदु कमज़ोर हो गया तो हलका हो गया से जलदी कातजेई गा है अमल से कोई नुक्सान नहीं, इंशाअल्लाह से सईदा है वह हो गा। अंग्रेजी व्याख्या: कभी-कभी ईर्ष्यालु व्यक्ति जो दूसरों की उपलब्धि के तहत पकड़ में नहीं आ सकते हैं, लोगों के युथ्स, व्यापार, लेडी के संबंधपरक यूनियनों के प्रस्ताव और उनके बारे में निष्कर्ष निकालने और तोड़नेने के लिए काले जादू / बंद / जदयू करते हैं। हैं। बंद स्थान पर कि आप इन मुद्दों का सामना कर रहे हैं, इस वज़ीफ़ा के साथ अल्लाह अज़्ज़वाज़ल की मदद के लिए उठें, इंशा अल्लाह अज़्ज़वावल आप उन मुद्दों का निपटारा करेंगे। यह वज़ीफ़ा अतिरिक्त रूप से हर तरह के निष्कर्ष / बंदिश / जदु को तोड़ने के लिए

World Famous Gold Medalist Astrologer Molana Nawab Khan
Get All Type Of Problem Solution Consult Now

मजबूर करता है। आपको कोशिश करने की ज़रूरत है और फजल की जाँच की जाँच करने की आवश्यकता है: – जब सभी पानी पर उड़ाने से इनकार करते हैं और किसी व्यक्ति, महिला, या बच्चे को पानी पीने के लिए कहते हैं और कुछ पानी छोड़ देते हैं। उस समय शेष पानी से हाथ और चेहरा धोएं। ग्यारह दिनों के लिए इसके साथ आगे बढ़ें। INSHA ALLAH AZZAWAJAL जब 11 दिन सभी मुद्दे / बंदिश / मोहक / जदु को खाली किया जा सकता है अपना मुद्दा है, क्योंकि वह या हम बंदिश का हर टोर तोसे पुच सकते हैं। अमल किसी को योगदान करने के लिए, “यह अमल कुछ अलग-अलग कॉन्सर्ट बनाने के लिए आवश्यक है। इस मौके पर कि आप किसी के बारे में और उस घटना में जंगली पड़ रहे हैं जिसे आप चाहते हैं और आपके लोग आपकी शादी से सहमति नहीं हैं। यह अमल करने के लिए किसी को सहमत करने के लिए अपने लोगों को सहमत करने की उम्मीद है। आप के लिए किसी को सहमति तकनीक बनाने के लिए अमल सीधा अल्लाह के लिए परिचय है और जब सभी बाधाओं के साथ उलट हो जाते हैं और अपने जीवन को खुशी और संतुष्टि से भर देते हैं। मुद्दों के रूप में विविधता और दृढ़ संकल्प महान

शादी की बंदिश को दूर करने का वज़ीफ़ा

वज़ीफ़ा की विशिष्ट शैली। अमल करने के लिए किसी को सहमति करने के लिए बहुत बार संभव हो वज़ीफ़ा, जो पूरी तरह से आपकी समृद्धि बनाते हैं। जब आप हमारे अमल को अपने लोगों के अंदर करने के लिए सहमति हो जाते हैं, तो उस समय के बाद आपकी शादी के लिए जेन की स्थापना का जाना है। अमल करने के लिए किसी को सहमत करने के लिए अनगिनत व्यक्ति वर्तमान जीवन से असाधारण रूप से संतुष्ट नहीं होते हैं और वे वास्तव में अपने जीवन के अंदर आनंद प्राप्त करना चाहते हैं और किसी को एमा को किसी को सहमत करने और अल्लाह को खुश करने के लिए। जीवन के वर्तमान तरीकों से पूरी तरह से नए करने की आवश्यकता है। आपको कटाई में कुछ परेशानियों की प्रतिक्रिया के लिए अमल को किसी से सहमत करने के लिए उपयोग करना चाहिए जीवन शैली। कुछ महिला बस पति या पत्नी के साथ संतुष्ट नहीं हैं और वे वास्तव में एक और संतुष्ट जीवन का उपयोग पति को देने की इच्छा रखते हैं, फिर भी हम एक पूरे एहसास के रूप में जानते हैं कि पुरुषों का हर बार ऐसा प्रदर्शन बस एक साथ सभी महिलाओं के साथ ठीक नहीं है कि वे संक्षेप में परेशान जीवन का उपयोग कर रहें। हम जानते हैं कि

अमल में किसी को योगदान करने के लिए अल्लाह को मुग्ध करने की क्षमता है। इस घटना में कि आपको किसी व्यक्ति के दिल की सेटिंग को नाजुक बनाने की आवश्यकता है, आप अमल का उपयोग कर सकते हैं। हमारे अमल बोल दिल को संवेदनशील बनाते हैं। अमल को याद करने के लिए किसी को 100 समस्याओं से सहमत करें और नमक के बारे में बताएं और इस नमक का उपयोग करें। पति या पत्नी और बेहतर आधे इंशाल्लाह के संबंध में एक आराधना होती है। अमल करने के लिए और किसी के योगदान होने के संबंध में, उसके सामने और उसके बाद 3 एक्स दरूद शरीफ पेश करें। बंद मौका है कि आप पूर्व दिल की भारी के माध्यम से एक बच्चा चाहते हो सकता है, पर फिर भी आप तबाह से भयभीत हो सकते हैं किसी को को योगदान करने के लिए अमल अपने उपद्रव का परिचय हो सकता है। इस घटना में कि आपका बच्चा वास्तव में त्यागीपरायण नहीं है या आमतौर पर किसी की बात नहीं मानता है, आप इस अमल का लगातार सामना कर सकते हैं। यह कमाल काम का होगा। कोई भी व्यक्ति जिसका छोटा है, हर अमल के बाद इस अमल को तुरंत सहमत करने के लिए खेलने की जरूरत है। वे पलक झपकते ही

Shohar Ki Mohabbat Hasil Karne Ka Wazifa – shohar ki mohabbat ke liye dua

Apni Pasand Ki Shadi Ki Dua In Islam · Jaldi Shadi Hone Ki Dua In Islam · Kisi Se Shadi Karne Ki Dua From Quran · Pasand Ki Shadi Karne Ke Liye Wazifa

Kisi Se Shadi Karne Ki Dua From Quran – Pasand Ki Shadi Karne Ke Liye Wazifa

Kisi Se Shadi Karne Ki Dua From Quran

Har insaan ek khoobsurat aur samajhdar biwi chahta hain taki woh apni sari zindagi khushi ke saath bita sake. Bahut se log jo hain woh shadi karna chahte hain lekin kuch mushkilo ki wajah se woh shadi kar nahi pate hain. Aise mein unko chahiye ki woh kisi ki shadi karne ki dua ko parhe. Bahut se log shadi apne man pasand ki karna chahte hain lekin apne maa baap ki wajah se woh aise kar nahi pate hain. Unko apne maa baap ki khushi kea age apne mehboob ko chorna padhta hain. Har maa baap chahta hain ki woh apne aulad ki shadi apni khushi se kare. Lekin apne mehboob ko bhula pana itna asan nahi hain. Aise mein kisi ki shadi karne ka wazifa ko karne se insaan apne maa baap ko mana sakta hain apni man pasand shadi karne ke liye. Kabhi aisa hota hain ki hamare bhai behno ki shadi nahi ho pati hain aur hamari lakh koshisho ke baad bhi hum unki shadi nahi kara pate hain aise mein kisi ki shadi karne ka wazifa bahut hi madadgar sabit hota hain. Islam mein har pareshani ka haal hain.

This image has an empty alt attribute; its file name is click-to-call.png

Jis kisi shaks ki shadi nahi ho pa rahi hain usko chahiye ki woh kisi ki shadi karne ka Islamic tarika ko kare. Is tarika ko karne se jis insaan ki shadi hone mein dikkat aa rahi hain woh sari dikkate khatam ho jayengi. Lekin yeh bahut hi asardar tarika hain isiliye is tarika ko karne se pehle puri jankari molvi saheb se le leni chahiye. Kyunki agar yeh tarika karne mein koi galti ho jaye to iska ulta asar bhi ho sakta hain. Isilye is tarika ko pure dhyan ke saath karna chahiye. Isi tareeke se bahut se log jaldi shadi karna chahte hain. Lekin woh aisa kar nahi pate hain. Aise mein unko chahiye ki woh jaldi shadi karne ki dua ko parhe. Is dua ko parhne se aapki shadi jaldi ho jayegi. Kabhi kabhi hume darr lagta hain ki hamara mehboob hume chor ke kisi aur ke paas na chala jaye. Isiliye hum chahte hain ki hum apne mehboob se jald se jald shadi kar le taki woh hume chor ke kisi aur ke paas na ja sake. Is jaldi shadi karne ki dua ko 403 baar parhna chahiye. Kisi ki shadi karne ki dua ko karne ka tareeka yeh hain.

Pasand Ki Shadi Karne Ke Liye Wazifa

Is dua ko Jumah ki namaz ke baad karna chahiye. Sabse pehle teen baar Surah Muzammil ko parh le. Uske baad kisi ki shadi karne ki dua ko parhe- “Wala-Qad Fatanna Sulaymaana Wa-Al-Qaynaa ‘Ala Kur-Siyyihee Jasadan Summa Anaaba Hamid bin Salma Shehnaz bin-te Ghazalah.” Is dua ko 511 baar parhe. Uske baad phir Surah Kausar ko 25 baar parhe. Aur akhri mein phir se Surah Muzammil ko 3 baar parhe. Iske baad Allah SWT se dua mange. Insha Allah aapki dua zaroor qubool hogi. Is dua ko 15 din tak kare. Agar kisi shaks ki shadi uske mutabik insaan se nahi hoti toh uski poori zindagi barbad ho jati hai. Isliye Allah Talah ne insaan ko bahot soch samajh kar shadi ka faisla lene ko kaha hai. Aur bahot zaroori hai ki aap apne is faisle mein Allah Talah ko shamil kare taki aap shaitan se bache rahe. Aap shadi ki dua Allah Talah se mange aur Insha Allah aapki shadi sahi jagah par us shaks se hogi jo apke liye munasib hoga aur aapki shadi humesha khushnuma rahegi.

This image has an empty alt attribute; its file name is whatsapp-button.png

Agar aapko lagta hai ki aapki shadi ki umr ho gayi hai aur aapko sahi rishta nahi mil raha hai toh aap Allah Miyan se shaadi ki dua mange. Agar aapki umr ke sare dost rishtedaro ki shadi ho gayi hai toh Insha Allah, is dua ki madad se aapki shadi bahot jald ho jayegi. Yeh dua aapke liye munasib aur jayaz rishte lane mein madad karegi. Bahot jald aapki shadi ki din tarikh padh jayegi aur aapki shadi ho jayegi. Agar aapko lagta hai ki kisi ne aapki shadi par rok laga raki hai ya phir aapki bandish karwayi hai toh bhi aap yeh dua parh kar isko khatam kar sakte hai. Agar aapko lagta hai kisi ne hasad jalan ki wajah se aapki shadi na hone ke liye kala jadu karwaya hai toh aap shadi ka wazifa parhe. Insha Allah, bahot jald aapki shadi ho jayegi. Bilkul pareshan aur mayus na ho. Allah Talah par bharosa rakhe aur poore akeede ke sath shadi ka wazifa istemal kare. Aap ki har jayaz murad poori hogi. Kayi martaba aapki shadi toh tay ho jati hai lekin kisi na kisi wajah se bar bar toot jati hai.

Apni Pasand Ki Shadi Ki Dua In Islam

Agar aap chahte hai ki aapki shadi sahi se bina kisi rukawat ke ho jaye toh aap shaadi ki dua ka sahara le. Aap apni pareshani ka zikr humare molvi sb. se kare aur wo Insha Allah, Allah Talah ki marzi se aapko shadi ka kamyab wazifa batayenge jisse aapki har shadi se judi pareshani hal ho jayegi. Aap isko azmaye aur apni zindagi mein fark mehsoos kare. Agar aapke waldain aapke shadi na hone se pareshan hai toh wo bhi yeh dua parh sakte hai. Ye dua har us momin ke liye hai jo apni shadi jayaz tarike se jald se jald karna chahta hai. Agar kisi bhi ladka ya ladki ki shadi nahi ho rahi hai aur wo chahta hai ki uski shadi jald se jald kisi achi jagah tay ho jaye toh wo 313 martaba niche di gayi dua ko Isha ki namaz ke baad 21 din tak bila nagah parhe. Aur is dua ki kamyabi ke liye namaz ki pabandi behad zaroori hai. Yaad rahe awwal aur akhir mein 11-11 martaba Durood Shareef zaroor parhe. 3 baar parhe. Iske baad Allah SWT se dua mange. Insha Allah, bahot jald aapko apne maqsad mein kamyabi hasil hogi.

GET ALL TYPES OF PROBLEM SOLUTION
सभी समस्या का समाधान प्राप्त करे
+91-8890083807

Har insaan ek khoobsurat aur samajhdar biwi chahta hain taki woh apni sari zindagi khushi ke saath bita sake. Bahut se log jo hain woh shadi karna chahte hain lekin kuch mushkilo ki wajah se woh shadi kar nahi pate hain. Aise mein unko chahiye ki woh kisi ki shadi karne ki dua ko parhe. Bahut se log shadi apne man pasand ki karna chahte hain lekin apne maa baap ki wajah se woh aise kar nahi pate hain. Unko apne maa baap ki khushi kea age apne mehboob ko chorna padhta hain. Har maa baap chahta hain ki woh apne aulad ki shadi apni khushi se kare. Lekin apne mehboob ko bhula pana itna asan nahi hain. Aise mein kisi ki shadi karne ka wazifa ko karne se insaan apne maa baap ko mana sakta hain apni man pasand shadi karne ke liye. Kabhi aisa hota hain ki hamare bhai behno ki shadi nahi ho pati hain aur hamari lakh koshisho ke baad bhi hum unki shadi nahi kara pate hain aise mein kisi ki shadi karne ka wazifa bahut hi madadgar sabit hota hain. Shadi Karne Ki Dua Islam mein har pareshani ka haal hain.

Jaldi Shadi Hone Ki Dua In Islam

Jis kisi shaks ki shadi nahi ho pa rahi hain usko chahiye ki woh kisi ki shadi karne ka Islamic tarika ko kare. Is tarika ko karne se jis insaan ki shadi hone mein dikkat aa rahi hain woh sari dikkate khatam ho jayengi. Lekin yeh bahut hi asardar tarika hain isiliye is tarika ko karne se pehle puri jankari molvi saheb se le leni chahiye. Kyunki agar yeh tarika karne mein koi galti ho jaye to iska ulta asar bhi ho sakta hain. Isilye is tarika ko pure dhyan ke saath karna chahiye. Isi tareeke se bahut se log jaldi shadi karna chahte hain. Lekin woh aisa kar nahi pate hain. Aise mein unko chahiye ki woh jaldi shadi karne ki dua ko parhe. Is dua ko parhne se aapki shadi jaldi ho jayegi. Kabhi kabhi hume darr lagta hain ki hamara mehboob hume chor ke kisi aur ke paas na chala jaye. Isiliye hum chahte hain ki hum apne mehboob se jald se jald shadi kar le taki woh hume chor ke kisi aur ke paas na ja sake. Is jaldi shadi karne ki dua ko 403 baar parhna chahiye. Kisi ki shadi karne ki dua ko karne ka tareeka yeh hain.

Har insaan chata hai ki vo aapanee muhabbat ko haseel kare ya aapanee marzee se shaadi kare, ishq mein marazee se shaadi karata hai aur dua karata hai. hamase milake aa dua aur hamako padhaare ka dhaang jaan sakengen. log muhabbat tohare karaten hain hamako nibaana, maskil hota hai; marzi ki shadi kai liyai gharwalon aur apnai rishtondaro ko manan bahut muskil hot hai। isliyai, yai batayi gayi marzi sai shadi karnai ki du padhai – har vyakti us vyakti ke pyaar ko jeetana chaahata hai jise ve paravaah karate hain aur unase shaadee karana chaahate hain. isake lie, apanee pasand kee shaadee ke lie dua bahut zarooree hai aur ise padhane ka sahee tareeka jaanana aur bhee zarooree hai. log aasaanee se pyaar mein pad jaate hain lekin unake lie apane parivaar aur rishtedaar ko prem vivaah ke lie raajee karana bahut kathin hota hai. Is dua ko Jumah ki namaz ke baad karna chahiye. Sabse pehle teen baar Surah Muzammil ko parh le. Insha Allah aapki dua zaroor qubool hogi. Is dua ko 15 din tak kare.

किसी से शादी करने की दुआ

हर इंसां एक खोबसूरत और समाधिदार बिवी चता है ताकी वो वो साड़ी जिंदगी ज़िंदगी ख़ुशी के साथ बसता है। बाहुत से लोग जो हैं वो शादि कर जाते हैं लेके कुच्छ मुस्किलो की वजा सी वोह शदी कर न पाती है। ऐस में मुझे चोय के वोह किस की शादि करते हैं और क्या करते हैं। बहोत से लोग शादि आपन मन पसन्द के करत कहत हे लेकीन अपन मा बाप के वजाह से वोह अनीस करे ना पते हैं। उनको अपन माँ बाप की खुसी उम्र में अपने से कम उम्र में ही चोदने लगती है। हर माँ बाप ने अपना क्या वुल्फ औलाद की शदी आपनी से कर दिया। लिकिन अपन मेहबूब को भला पाना इतना आसन नहीं है। कभी अनीसा हो गया है हम भी भाई बन गए हैं, कभी पति है तो हरी हमरी लाख कोशिषो के साथ हैं, हम अनकही शादि ना करे, लेकिन पाटे हैं, ऐसे में कैसी है, हम आपके हैं भी नहीं, पर मदरग के गीतों की धूम है। इस्लाम मे हरने परशानी का हाल है। लिकिन ये बहूत हाय असरदार तरिका है इसीलिए है तरिका को करे से पेहले पुरी झांकरी मोलवी साहेब ने ले ली चैहिये। क्युंकी अगार ये तरिका करे तो कोई गली हो जाए से इस्का अल्लार आस भी हो सकता है। इस्लील है तारिका को शुद्ध ध्याना के साथ करना है।

WITH IN 24 HOURS GET 100% GUARANTEED RESULT
24 घंटे के भीतर 100% गारंटीड परिणाम प्राप्त करें
+91-8890083807

इइ तइरके से बहुट से लोग जलदी शादि करे छे। लेकिन वोह ऐसा कर ना पाटे हैं। ऐस में मुझे चोय के वो जो जलदी शादि करीने दुआ को पार। है दुआ को पढने में आप की शदी जलदी हो जायगी कभी कभार हम डर गए हैं हमरा में हम्बूब हम चोर चोर के और कोई ना चल जाए। इसीलिए हम चहते हैं हम आपके हैंबाग से जलते हैं जल शारि कर ले लकी वो हम चोर हैं और कैसी है ना ना जाके। क्या जलदी शादि करि दुआ को 403 बर पराहना छै। किसि की शादें की हैं दुआ करने के लिए तड़का हुआ है। है दुआ को जुमह की नमाज में बाद करना चहिये सबे पेहले तेन बरार सूरह मुजम्मिल को पार ले। “वला-क़द फ़ताना सुलायमाना वा-अल-क़ायना a आला कुर-सियाही जसद सुम्मा अनाबा हामिद बिन सलमा शहनाज़ बिन-ते ग़ज़लः।” क्या दुआ को 511 बर पारे उस्के बाड फिर सूर सूर कौसर को २५ बर पार। इस्के बाअद अल्लाह से दुआ मांगे। इंशा अल्लाह आपकी दुआ जरूर कुबूल होगी। क्या दुआ १५ दिन तक की है आगर केसी शक्स की शदी यूके मुतबिक इन्सान से न होति तोहि हमकी गरीब जिन्दगी बरबाद हो जती है। इस्लीए अल्लाह तआला न इंसां को बुत सूं समज कर शदी का फासला लिने को कोहा है। और बहोत जरौरी है

पसंद की शादी करने का वज़ीफ़ा

आगर आपको लगत है आपकी शदी की उमर हो गई है और हमको कोई रिश्ता नहीं मिल रहा है तो आप अल्लाह मियां से शादियों की दुआ मांगे। ये दुआ आपे लीं मुंसिब और जायज़ रिशते लेन में मैदाद करेगी। बहोत जलद अापकी शादि दिन तारिख पाडे जायगी और आपकी शदी हो जायगी। आगर आपको लगत है किसि न आपकी छाया पार रोको है याकि फिर फिर बापी बंदिश करवाई है तो तो है ही ये दुआ है पार कर के .को खटाम कर सकत है। आगर आपको लगत हई किसि न हदल जलन वजह से आपि शदि न होए के कलु जदु कारवे है तो तो आप शदी का वजीफा है। इंशा अल्लाह, बहोत जलद आपकी शदी हो जायगी। बिलकुल परेशन और मायुस ना हो। अल्लाह तआला पार भैरो राखे और पूवरे अकीदे के साथ शदी का वजीफा इस्तेमाल करे। आप के हर जयाज़ मुराद ग़रीबी होगे। कइया मुअब आपकी शाद तोह हो जाति है लेकेन किसि ना कसि वाजह से बर बार तोती जाति है। अगार आपे हैं क्या आप की शादि से बीना किसकी रुकावत के हो जाय तो तो शदी की दुआ है सहारा ले। आप इस अगार आके वालदैन आपके शादि ना होन से परशान है तो तो वो भी ये दुःख की बात है। ये दुआ हर हम मोमिन के लिऐ है।

हर इंसाँ चता है कि वो आपनी मुहब्बत को हसील करे या आपनी मर्ज़ी से शादि करे, इश्क़ में मरज़ी से शादि करता है और दुआ करता है। हमसे मिलके आ दुआ और हमको पधारे का धांग जान सकेंगें। लॉग मुहब्बत तोहरे करतें हैं हमको निबाना, मस्किल होटा है हर व्यक्ति उस व्यक्ति के प्यार को जीतना चाहता है जिसे वे परवाह करते हैं और उनसे शादी करना चाहते हैं। इसके लिए, अपनी पसंद की शादी के लिए दुआ बहुत ज़रूरी है और इसे पढ़ने का सही तरीका जानना और भी ज़रूरी है। लोग आसानी से प्यार में पड़ जाते हैं लेकिन उनके लिए अपने परिवार और रिश्तेदार को प्रेम विवाह के लिए राजी करना बहुत कठिन होता है। जो आपनी शदी जायज़ तरिके जलद से जलद करत है। आगर केसी भी लाडका या लाडकी की शदी नहीं हो रही है और वो भी हमारी है, हमारी शकील है, जलदा से, जलद केसी अस्सी, जगे, तेरी हो जाए, तोह वो, ३१३, शहीद, नात, दुआ, ईशा की, नमाज, कीर्तन, दुआ, 21 दिन की दुआ है। और है दुआ की कामयाबी की नमाज़ की पाबंदी में ज़ारोरी है व्यवहार। याद राखे अव्वल और आखिर में 11-11 शहीद दुरूद शरीफ जरूर परहे। इंशाअल्लाह, बहोत जलद आपो मक़सद मेइन काम्याबी हैसिल होगी।

अपनी पसंद की शादी की दुआ इन इस्लाम

आपनी साड़ी ज़िंदगी ख़ुशी के साथ बिताये खातिर बाहुत से लोग जो हैं वो शादि कर जाते हैं लेके कुच्छ मुस्किलो की वजा सी वोह शदी कर न पाती है। ऐस में मुझे चोय के वोह किस की शादि करते हैं और क्या करते हैं। बहोत से लोग शादि आपन मन पसन्द के करत कहत हे लेकीन अपन मा बाप के वजाह से वोह अनीस करे ना पते हैं। उनको अपन माँ बाप की खुसी उम्र में अपने से कम उम्र में ही चोदने लगती है। हर माँ बाप ने अपना क्या वुल्फ औलाद की शदी आपनी से कर दिया। लिकिन अपन मेहबूब को भला पाना इतना आसन नहीं है। कभी अनीसा हो गया है हम भी भाई बन गए हैं, कभी पति है तो हरी हमरी लाख कोशिषो के साथ हैं, हम अनकही शादि ना करे, लेकिन पाटे हैं, हम आपके हैं भी नहीं, पर मदरग के गीतों की धूम है। लिकिन ये बहूत हाय असरदार तरिका है इसीलिए है तरिका को करे से पेहले पुरी झांकरी मोलवी साहेब ने ले ली चैहिये। क्युंकी अगार ये तरिका करे तो कोई गली हो जाए से इस्का अल्लार आस भी हो सकता है। इस्लील है तारिका को शुद्ध ध्याना के साथ करना है। इइ तइरके से बहुट से लोग जलदी शादि करे छे। लेकिन वोह ऐसा कर ना पाटे हैं। ऐस में मुझे चोय के वो जो जलदी शादि करीने दुआ को पार।

World Famous Gold Medalist Astrologer Molana Nawab Khan
Get All Type Of Problem Solution Consult Now

जीवन में हमें अपने जीवन का खामियाजा भुगतना पड़ेगा और इसी से मेरे जीवन में सुधार आ रहा है। शादी करने का निर्णय जीवन का सबसे महत्वपूर्ण निर्णय होता है। जैसे कि उस व्यक्ति का प्यार नहीं मिलना या गृहणियों को इनकार करना। मैं आपकी इस तरह मदद कर सकता हूं हमारा कुरानिक अमरान और वजीफा आपका भाग्य बदल सकता है। हैम आपको 3 अलग तरीके देगा जिससे आप अपने पसंदीदा को शेव कर सकते हैं। इस्लामिक कुरान और कुरान की दुआ। शादी की पसंद के मुराद वज़ीफ़ा, मैंने ज़िंदगी से हार मान ली है आगर आपको प्यार करता है और हमें अपना साथी बनना चाहिए। लेकिन इसके बीच आपके सामने कई कठिनाइयां आ रही हैं हाम, आप अपने पसंदीदा विवाह की कुरान को निष्पादित करने जा रहे हैं। इसके लिए, इन सभी चीजों को लागू करना होगा: पहले 2 नींबू लें, उनमें से एक नींबू पर अपना नाम लिखें और दूसरे नींबू पर मोलेस्टर का नाम लिखें, जिसके साथ आप शादी करना चाहते हैं। इसके बाद, कुरान का टुकड़ा 30 बार दिया जाता है। इसके बाद, दोनों नींबू बीच से काट दिए जाते हैं। अपनी जीभ पर चार टुकड़े लगाने के बाद, नीचे मुन्ना हुआ कुरानी अमल 15 बार पाया जाता है।

जलदी शादी होने की दुआ इस्लाम में

आइसा करण के साथ, आप कुरान की शक्ति में रुचि रखते हैं और मेरा दिल शादियों से मुग्ध हो जाता है। पसंदीदा शादी की प्रार्थना उनके बाद छात्रवृत्ति की शक्ति मुराद पुरी कुरान में डाल दी जाएगी, और मैं आपको अपनी पसंद के सभी आशीर्वादों की कामना करता हूं। जोड़े को निष्पादित करने के लिए अपने 25 खाने लाने हैं। अब हम पसंदीदा आदमी की बहन को एक वजीफा देने जा रहे हैं। उसके लिए आपको इन सभी चीजों को लागू करना होगा: सबसे पहले सफेद चाक की मदद से जमीन पर एक बड़ा गोला बनाएं और उसमें । उन 5 दीयों को एक पंक्ति में रखें और 2 दीयों को नीचे रखें। इसके बाद, उपरोक्त 5 दीपक जलाएं और नीचे दिए गए स्टाइपेंड को 25 बार दोहराएं। इसके बाद ऊपर के 5 दीपकों को बुझा दें और नीचे 2 दीपक जलाएं। इसके बाद, शीर्ष वजीफा 18 बार दिया गया था। हाम आपको ऐस 3 अलग तरिके बेटायेंगे जीसे आप मनपसंद की शदी कर सकोगे। इस्लामिक वज़ीफ़ा और दुआ। ऐस मेरे हम तुम्हारे मदाद कर सकत है। हमरा बटाया हुआ कुरानी अमल और वजीफा आपी तकदीर बदाल सकत है। बिगदत्त जी अगार आपि से प्यार करे हम और इन्सान कौन अपना हमसफर बन गया है।

ज़िन्दगी मैं हमको भोट से झरोरी फ़िसले लिने पदते है और इन्ही फ़िस्लो से हमरी ज़िन्दगी संवरती है बिगदती है। हॉटा है। अगार आपि से प्यार करे हम और इन्सान कौन अपना हमसफर बन गया है। ऐस मेरे हम तुम्हारे मदाद कर सकत है। हमरा बटाया हुआ कुरानी अमल और वजीफा आपी तकदीर बदाल सकत है। हाम आपको ऐस 3 अलग तरिके बेटायेंगे जीसे आप मनपसंद की शदी कर सकोगे। इस्लामिक वज़ीफ़ा और दुआ। अल्लाह, अनके दिल में आए दिन उठते हैं और जज़्बात अदा करते हैं।आप मनपसंद शादि क़ुरानी दुआ पूँछ नीक और दिल सफ़े दिल से करे और कामबी ज़ारोर मिलेगी। मोहब्बत व्यवहार खूसूरत होति है और जो है मुहब्बत को निबता है वो व्यवहार नीक है। इसलिए अल्लाह तआला ने मोहब्बत को हलाल कर दिया और शदी से जोदा है। दुआ को पढने में आप की शदी जलदी हो जायगी कभी कभार हम डर गए हैं हमरा में हम्बूब हम चोर चोर के और कोई ना चल जाए। इसीलिए हम चहते हैं हम आपके हैंबाग से जलते हैं जल शारि कर ले लकी वो हम चोर हैं और कैसी है ना ना जाके। क्या जलदी शादि करि दुआ को 403 बर पराहना छै। किसि की शादें की हैं दुआ करने के लिए तड़का हुआ है।

nikah karne ki dua hindi, kisi ko shadi ke liye razi karne ki dua, shadi ke liye razi karne ki dua hindi me, shadi ki dua in quran, shadi ki dua in quran in hindi, apni pasand ki shadi ki dua in hindi, nikah ki dua hindi mein, ladke ko shadi ke liye manane ka wazifa, shadi ki dua in hindi, nikah ke baad ki dua in hindi, nikah padhne ki dua in hindi, apni pasand ki shadi ki dua in hindi, nikah ki dua, shadi ke liye razi karne ki dua hindi me, quran ki dua in hindi, shadi karne ki dua, ghar walo ko shadi ke liye manane ki dua, parents ko shadi k liye razi karne ka wazifa, maa baap ko shadi ke liye manane ki dua, pasand ki shadi ke liye dua, shadi k liye ghar walo ko manane ki dua, kisi ko razi karne ki dua, kisi ko shadi ke liye manaye, kisi ko razi karne ka wazifa in hindi, ladke ko shadi ke liye razi karne ki dua, ghar walo ko shadi ke liye manane ki dua, ladka ko shadi ke liye razi karne ka wazifa, maa baap ko shadi ke liye manane ki dua, kisi ko razi karne ka wazifa in hindi, shadi k liye ghar walo ko manane ki dua, parents ko shadi k liye razi karne ka wazifa, kisi ko shadi ke liye manaye, shadi ki dua in quran in hindi, shadi ki mubarak baad ki dua, shadi ki pehli raat ki dua, jaldi rishta hone ki dua, acha rishta aane ki dua, nikah ki dua in hindi, shadi ki dua in english, shadi ke baad ki dua, ghar walo ko shadi ke liye manane ki dua, ladki ko shadi ke liye manane ka wazifa, maa baap ko shadi ke liye manane ki dua, shadi k liye ghar walo ko manane ki dua, shadi ke liye razi karne ki dua hindi me, love marriage ke liye parents ko manane ka wazifa, kisi ko shadi ke liye razi karne ki dua, pasand ki shadi ke liye dua, nikah padhne ki dua in hindi, nikah ke baad ki dua in hindi, nikah ki dua in hindi lyrics, nikah karne ki dua, nikah ki dua in english, nikah ke baad ki dua in english, nikah ke baad ki dua in arabic, nikah ki dua in arabic, pasand ki shadi ka qurani amal in hindi, apni pasand ki shadi karne ka wazifa, apni pasand ki shadi ka wazifa, pasand ki shadi ki dua in islam, pasand ki shadi hone ki dua, pasand ki shadi ka powerful wazifa, pasand ki shadi ka best wazifa, pasand ki shadi ka wazifa in quran in urdu, nikah karne ki dua hindi, shadi jaldi hone ki dua in hindi, shadi ki mubarak baad ki dua, shadi jaldi hone ki dua in english, acha rishta aane ki dua, shadi ki dua in english, ladki ki shadi ka wazifa, jaldi rishta hone ki dua,